ब्लॉग छत्तीसगढ़

09 November, 2015

विनोद साव की कृति ‘मेनलैंड का आदमी’ का विमोचन

छत्तीसगढ़ प्रदेश हिंदी साहित्य सम्मलेन, रायपुर द्वारा विगत १८ अक्टूबर को ‘मायाराम सुरजन स्मृति लोकायन’ में प्रादेशिक सम्मलेन का आयोजन किया गया जिसमें ‘वर्तमान समय और साहित्यकार का दायित्व’ विषय पर विचार गोष्ठी रखी गयी. इस अवसर पर चर्चित लेखक विनोद साव के साहित्य भंडार, इलाहाबाद से प्रकाशित यात्रा-वृत्तांत ‘मेनलैंड का आदमी’ का विमोचन प्रसिद्द व्यंग्यकार प्रभाकर चौबे व सम्मलेन के अध्यक्ष ललित सुरजन ने किया. कार्यक्रम का संचालन महामंत्री रवि श्रीवास्तव ने किया. विमोचित कृति पर मुख्य वक्तव्य देते हुए प्रसिद्द आलोचक डॉ. गोरेलाल चंदेल ने कहा कि ‘विनोद साव के यात्रा संस्मरण की भाषा यात्रा की नीरसता, उबाऊपन और बेजान विवरण को सरस और जीवंत बना देती है और पाठक को भी पूरी आत्मीयता से जोड़ देती है. विनोद के विचार कहीं भी वैचारिक जड़ता के शिकार नहीं होते वरन वे स्थानीयता के हिस्से बन जाते हैं. भाषा में ऐसा प्रवाह है कि पाठक भी उसमें डुबकी लगाते हुए बहने लगते हैं’  इस अवसर पर प्रदेश भर से उपस्थित साहित्यकारों के बीच विनोद शंकर शुक्ल, तेजेंदर, जीवन यदु, तुहिन देव, उर्मिला शुक्ल, विद्या गुप्त, संतोष झांझी आदि उपस्थित थे.स्‍ट यहॉं पेस्‍ट करें

1 comment:

  1. विनोद साव जी की कृति ‘मेनलैंड का आदमी’ के प्रकाशन पर हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है. (टिप्पणियों के प्रकाशित होने में कुछ समय लग सकता है.) -संजीव तिवारी, दुर्ग (छ.ग.)

loading...

Popular Posts