ब्लॉग छत्तीसगढ़

Popular Posts

27 April, 2010

भाषा के लोकतंत्र की रक्षा का दायित्व हर भाषा-भाषी के ऊपर है।

नया ज्ञानोदय में प्रकाशित जया जादवानी की कहानी ‘मितान’ पर मेरी असहमति साहित्य में क्षेत्रीय भाषा के शब्दों का प्रयोग बहुधा होते आया है और इस...

25 April, 2010

क्या वे औसत दर्जे के परिणामों से संतुष्ट रहेंगे या .... ? : वेंकटेश शुक्ल

इस आलेख की पहली कड़ी :  छत्‍तीसगढ़ सोने की चिडि़या   यहां  पढ़ें.  सबसे बड़ी महत्ता रोजगार की किसी भी अर्थ व्यवस्था का मापदंड है रोजगार की ...

24 April, 2010

छत्तीसगढ़ एक सोने की चिडिय़ा? : वेंकटेश शुक्ल

छत्तीसगढ़ के पास देश के सम्पन्नतम राज्यों में से एक बनने का अवसर है, पर्याप्त संभावनाएं हैं। शासन की नीतियों में आमूलचूल क्रांतिकारी बदलाव क...

23 April, 2010

ऐसी कोई तकनीक है ही नहीं जो यह सिद्ध कर दे, कि बेनामी और फर्जी आईडी से की गई टिप्पणियों के टिप्पणीकर्ता को पहचाना जा सके

" शास्त्री जी आपने लिखा है कि “ओ छत्तीसगढ़ के महारथी! क्या तुम्हारा नाम ब्लॉग-जगत् को बता दूँ?” पर अभी जब मैं यह पोस्ट पढ रहा हूं तब तक...

20 April, 2010

सद्भावना के शिल्पी भाई गिरीश पंकज : डॉ. परदेशीराम वर्मा

जनवादी कवि नासिर अहमद सिकंदर पन्द्रह वर्ष पूर्व कवियों पर एक स्तंभ लिखते थे । नवभारत में वे प्रति सप्ताह एक कवि से साक्षात्कार लेते थे । यह ...

18 April, 2010

ब्‍लॉगरों पर साढ़े साती शनी : और हम हिन्‍दी के भविष्‍य के लिए कुछ भी नहीं कर पाए.

आप सभी इस बात से वाकिफ हैं कि हिन्‍दी ब्‍लॉगजगत से परे अंग्रेजी व हिन्‍दी वेब जगत में ज्‍योतिष का चहुंओर बोलबाला है. गूगल सर्च पर धका-धक ज्‍...

17 April, 2010

कौन झूठ बोल रहा है ... ??

मानवाधिकार कार्यकर्ता हिमांशु कुमार या पुलिस अधीक्षक अमरेश मिश्रा : जलता बस्‍तर  आई गूगल में पसंदीदा समाचारों को खंगालते हुए  जागरण   का ए...

आदिवासियों ने उठाया हक का सवाल : कंगला मांझी स्मृति स्वर्ण जयंती समारोह

'लगातार शोषण और उपेक्षा के कारण आदिवासी असंतुष्ट हुआ है। आदिवासी कभी किसी का हक नहीं छीनता, मगर लगातार उसके हकों को छीना गया। ' यह उ...

16 April, 2010

दलित चेतना का सूर्य : शबरी - आचार्य सरोज द्विवेदी

छत्तीसगढ़ के इतिहास और संस्कृति कें मूल में जब हम झांकने का प्रयत्न करें तो हमें जाज्वल्यमान नक्षत्र के रूपमें एक मात्र नाम दिखाई देगा शबरी ...

15 April, 2010

मुफ्त में अपने ब्‍लॉग का ट्रैफिक बढावें - जुगाड तकनीक

पिछले दिनों मैंनें अपने इस ब्‍लॉग में एवं दो अन्‍य ब्‍लॉग में विभिन्‍न वेबसाईटों के सहारे लगाए जा रहे चटकों का लेखाजोखा लिया तो पाया कि ब्...

14 April, 2010

माओ के पोतो, तुम कायर-बटमार हो... : दीपक शर्मा

पिछले दिनों बस्तर के चिंतलनार में हुई भयानक घटना की खबर इंटरनेट अखबार में पढ़ी तब से अब तक रह-रह यह विचार दिल को कुरेदते हैं कि जिन परिजनों ...

13 April, 2010

फीडबर्नर सब्‍सक्राईबर मेल में अपने पोस्‍ट के फोंट साईज को बडा करना

पिछले चार दिनों से मेरे एक फीडबर्नर मेल सब्‍सक्राईबर श्री आनंद कुमार भट्ट जी का मेल आ रहा था कि मेरे पोस्‍ट जो उन्‍हें फीडबर्नर के द्वारा प्...

12 April, 2010

भिलाई में मिले तीन ब्‍लॉगर : मिलने-मिलाने का दौर चलता रहे

कल रविवार का दिन था यानी घर-परिवार का दिन. घर के ही बहुत सारे निजी काम थे जो मुझे निबटाने थे, बेटे और श्रीमतीजी की गुजारिश थी कि हम दिन भर उ...

11 April, 2010

परेशान हूं मैं मेरे नाम को गलत लिखने वालों से

साथियों मेंरा नाम है संजीव तिवारी, छत्‍तीसगढ़ के स्‍थानीय पत्र-पत्रिकाओं में मेरी कलम घसीटी समय-समय पर प्रकाशित होती है. किन्‍तु प्रकाशनों ...

10 April, 2010

गूगल की प्रतियोगिता 'है बातों में दम' का पुरूस्‍कार हमें प्राप्‍त हुआ

कल हमें एक मेल प्राप्‍त हुआ जिससे ज्ञात हुआ कि, विगत दिनों गूगल द्वारा आयोजित प्रतियोगिता 'है बातों में दम' में सहभागिता के लिए हमें...

09 April, 2010

तथाकथित मानवाधिकार वादियों बस्‍तर के आदिवासियों को मुहरा बनाना बंद करो

पिछले दिनों छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के गलियारों से एवं समाचार पत्रों से प्राप्‍त जानकारी छत्‍तीसगढ़ के लिए तो चौंकाने वाला नहीं है किन्‍तु यह उन ...

06 April, 2010

बस्‍तर के चिंतलनार में शहीद जवानों के लिए .....

अफ़शोस कि तू मर गया गुजरे दिनों की समाचार की तरह दुख है कि तुझे जांबाजी से लड़ते हुए वे देख नहीं पाये वो देखना भी नहीं चाहते थे क्‍योंकि वे ...

04 April, 2010

पं. माखनलाल चतुर्वेदी की यादें बिलासपुर जेल से

4 अप्रैल - जयंती विशेष बिलासपुर में द्वितीय जिला राजनीति परिषद का अधिवेशन सन् 1921 में हुआ जिसकी अध्यक्षता अब्दुल कादिर सिद्धीकी ने की। स्वा...

03 April, 2010

मंच नहीं, भूमि होती है बस्तरिया नाट में : योगेंद्र ठाकुर

हर समाज, देश और प्रांत में अपना नाट्य रंग है। बस्तर के उड़ीसा सीमाई क्षेत्र में "नाट" का अपना अलग जलवा है। यही वजह है कि ऋतु परिवर्...

01 April, 2010

आयोजन - समाजरत्न पतिराम साव अलंकरण समारोह सम्पन्न

रामेश्‍वर वैष्णव और डा.सुखदेव साहू सम्मानित 'गांधीवादी विचारधारा, जीवन शैली और संस्कारों से युक्त पतिराम सावजी को देखकर सहसा मुझे लाल ब...

छत्तीसगढ के असुर: अगरिया

जनजातीय समाज के लोग अपनी स्वाभाविक प्रवृत्ति से अपनी संस्कृति, परंपरा व प्रकृति को धरोहर की भांति निरंतर सहेजते रहे है, एवं समयानुसार इन्हें...