ब्लॉग छत्तीसगढ़

Popular Posts

28 April, 2015

कला दीर्घा : हर ‘निगेटिव’ को ‘पॉजिटिव’ बनाते हुए अनिल कामड़े

- विनोद साव भिलाई आर्ट्स क्लब ने इस शहर को चित्रों और रंगों से भर दिया है. पिछले महीने भिलाई में चित्रकला पर तीन दिनों का सार्थक आयोजन...

21 April, 2015

सरला शर्मा की कहानी : सफेद होता लहू

समय के साथ साथ रिश्‍तों की संवेदनशीलता बदल रही है, संबंधों के बीच नि:स्‍वार्थ प्रेम और भारतीय परिवार की परम्‍परा का मजबूत किला धीरे धीरे ढ...

18 April, 2015

वामपंथ और तीसरा विकल्प : विश्लेषण

यदि देश की भावी राजनीति को दिशा देने की जिम्मेदारी सचमुच निभानी है तो माकपा को अपनी असफलता के कारणों को दूर करना पड़ेगा। नेतृत्व परिवर्त...

16 April, 2015

कुछ जमीन से कुछ हवा से : रंगों और तूलिकाओं की दुनिया में तीन दिन

- विनोद साव अतिथि चित्रकार अखिलेश के साथ लेखक. भिलाई के चित्रकार हरि सेन ने फोन किया था कि ‘भिलाई में चित्रकला पर तीन दिनों का...

06 April, 2015

छत्तीसगढ़ का इतिहास, पुरातत्व और संस्कृति का साहित्य

दैनिक हरिभूमि से साभार संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग, छ.ग. शासन के सहयोग से दुर्ग जिला हिन्दी साहित्य समिति द्वारा विगत रविवार को होटल हिमा...