ब्लॉग छत्तीसगढ़

30 March, 2015

आयोजन : ‘समाजरत्न’ पतिराम साव सम्मान समारोह संपन्न

समाजसेवी गेंदलाल देशमुख और कवि मुकुंद कौशल सम्मानित



दुर्ग. ‘वह लेखक हमेशा जीवित रहता है जो अपने युग और समय पर हस्तक्षेप करता चलता है. पतिराम साव आज भी हमारे बीच जीवित हैं क्योंकि वे अपने समय के प्रति सतर्क थे. वे ‘साहू सन्देश’ के संपादकीय में अपने युग में हो रहे परिवर्तनों पर निरंतर हस्तक्षेप कर रहे थे. वे केवल कविता के ही नहीं हिंदी गद्य के भी सशक्त कलमकार थे. इसलिए हम आज भी उनके विचारों का स्मरण करते हैं और उनसे सीख ग्रहण करते हैं.’ उक्त विचार पतिराम साव सम्मान समारोह में पधारे मुख्य अतिथि, कल्याण महाविद्यालय, भिलाई के हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ.सुधीर शर्मा ने व्यक्त किये. अध्यक्षता करते हुए अनुसूचित जाति जनजाति विभाग, रायपुर के सहायक संचालक डॉ.बी.आर.साहू ने कहा कि ‘मैं पतिराम साव जी के बड़े पुत्र अपने समय के यशस्वी शिक्षाविद अर्जुन सिंह साव का शिष्य रहा हूँ इसलिए भी सावजी के समाजसेवी संस्कारों को उनके परिजनों में निकट से देखने का अवसर पाता रहा हूँ.’

इस वर्ष वृक्षारोपण के जरिये पर्यावरण सरंक्षण करने वाले ग्राम हनोदा-कोडिया के निवासी गेंदलाल देशमुख को समाजसेवा के लिए तथा दुर्ग के प्रसिद्ध कवि मुकुंद कौशल को ‘समाजरत्न पतिराम साव सम्मान से अलंकृत किया गया. अतिथियों द्वारा उन्हें शाल श्रीफल और अभिन्दन पत्र भेंट किया गया. सम्मान ग्रहण करने के बाद गेंदलाल देशमुख ने अपने छत्तीसगढ़ी उद्बोधन में वृक्षों की महत्ता बताते हुए कहा कि ‘में मर जहूं त भूत बनके भी पेड़ लगाये बर आहूं.’ कवि मुकुंद कौशल ने कहा कि ‘शिक्षक नगर दुर्ग के तिलक स्कूल में तब पतिराम साव जी अध्यापक थे और मैं उनका शिष्य था. जिन हाथों ने मुझे कलम पकड़ना सिखाया आज उन्हीं के नाम से सम्मान ग्रहण करते हुए मैं भाव विभोर हो रहा हूँ.’ कौशल ने अपनी हिंदी छत्तीसगढ़ी कविताओं का पाठ कर उपस्थित जनों को आनंदित किया.
साहू सदन, दुर्ग में विगत २२ मार्च को संपन्न इस समारोह में युवा कवि राजाराम रसिक की पत्रिका का भी अतिथियों ने विमोचन किया. आरंभ में अभिनन्दन पत्र का वाचन राजनेत्री द्वय नीलू ठाकुर और हेमलता साहू ने किया, स्वागत भाषण प्रो.ललित कुमार साव ने दिया तथा संचालन सुबोध साव ने व आभार प्रदर्शन दुर्ग जिला हिंदी साहित्य समिति के अध्यक्ष डॉ.संजय दानी ने किया. अतिथियों का स्वागत साहित्यकार अशोक सिंघई, मुमताज़, नासिर अहमद सिकंदर, परमेश्वर वैष्णव, प्रदीप भट्टाचार्य, रजनीश उमरे, कृष्णमूर्ति दीवाना तथा अन्यों ने किया. समारोह में भारी संख्या में प्रबुद्ध जन उपस्थित थे.

प्रस्तुति : विनोद साव
मोब. ९४०७९८४०१४


1 comment:

  1. Nice Article sir, Keep Going on... I am really impressed by read this. Thanks for sharing with us. Government Jobs.

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है. (टिप्पणियों के प्रकाशित होने में कुछ समय लग सकता है.) -संजीव तिवारी, दुर्ग (छ.ग.)

loading...

Popular Posts