ब्लॉग छत्तीसगढ़

15 April, 2012

हमनाम तुझे सलाम!

ब्लाॅग जगत में अगस्त २००६ से एवं नियिमत हिन्दी ब्लॉगिंग में अप्रैल २००७ से हूं, हिन्दी ब्लॉगिंग के आरंभिक स्पंदनों से हुंकार तक के सफर में साथ हूं. जैसा कि आप सभी जानते हैं कि मेरे ब्लॉग 'आरंभ' का यूआरएल http://www.aarambha.blogspot.in है. मेरे ब्लॉग में मुख्यत: छत्तीसगढ से संबंधी जानकारी होती है.

आज कई साथियों की शिकायत रही कि मेरे ब्लॉग में पोर्न सामाग्री है एवं पोस्ट दूसरी भाषा में है. देखने पर ज्ञात हुआ कि मेरे ब्लॉग 'आरंभ' से मिलता जुलता नेपाली भाषा का एक ब्लॉग है, उसका नाम भी अंग्रेजी में आरंभ http://arambha.blogspot.in है, उसके संचालक हैं नेपाल के पत्रकार प्रकाश गिरी जी. प्रकाश जी के इस ब्लॉग के ताजा पोस्ट में स्त्री वक्ष से संबंधित कुछ लिखा गया है और चित्र लगाए गए हैं. 

मेरा ब्लॉग आपके सामने है ... 

14 comments:

  1. इसका एक मतलब ये भी हो सकता है कि आरंभिक स्पन्दन से हुंकार के जमाने तक के ब्लॉगर के रूप में आप बहुत ज्यादा अनुभवी है ! आपको नेपाली आती है और स्पेलिंग में ज़रा अंतर करके आपने नया ब्लाग बनाया है और खुद ही उसके संचालक पत्रकार प्रकाश गिरी भी बन गये हैं और उन विषयों पर लिख रहे हैं जिन पर संजीव तिवारी के नाम से नहीं लिख सकते :)

    ReplyDelete
  2. यह ध्यान देने लायक बात है कि क्षेत्रीय संस्कृति / आंचलिकता , आपका प्रिय विषय है इसलिए एक ब्लॉग में छत्तीसगढी और दूसरे ब्लाग में नेपाली का संवर्धन कर रहे हैं आप :)

    ReplyDelete
  3. हे भगवान! अब तो ये नई समस्या है. कल को हमारे हमब्लॉग नाम से भी कोई ऐसा धमाल करे तो बड़ी समस्या हो जाएगी!

    ReplyDelete
  4. AAPAKA BLOG Aarambha hai aur param aadarniy shri
    1oooooooooooo108 GIRI JI ka BLOG http://arambha.blogspot.in HAI.
    http://aarambha.blogspot.in.
    AAP PAR HAMARA BHAROSA HAI .SO AAP KUKT HAST SE
    APANA YOGADAN YATHAWAT DEN .SHESH ISHWAR PAR CHHODEN.

    ReplyDelete
  5. हमें तो बस आपका ही ब्लॉग ज्ञात है।

    ReplyDelete
  6. येल्लो... अब इसका कोई क्या करे...

    ReplyDelete
  7. लगा कि कोई माटी प्रमी ब्‍लागर ने आ कर आपका हाथ तो नहीं थाम लिया है.

    ReplyDelete
  8. हम भी केवल आपके 'आरम्भ' को जानते हैं, यह एक धरोहर की तरह है.

    ReplyDelete
  9. kya bat hai ... filmo me hamshakl to dekha suna tha .....ab blog jagat me bhi hamnam....hamshakal.. jab diggajo ke sath ye ho rha hai to naye blogar kya kare..........
    chhattishgarhi bhasha, bane he sanjeev ji, nepal border dahar jhan ja......:)

    ReplyDelete
  10. अरे मेरे हम नाम से ये कौन आपको दोबार टिपिया गया ! कहीं किसी ने मेरा ब्लॉग क्लोन तो नहीं बना लिया !
    संजीव जी आप तो शरीफ आदमी हैं कौन विश्वास करेगा कि आप स्त्री के अंगों पर इतना इंटरेस्ट पब्लिकली लेंगे :)

    ReplyDelete
  11. अली जी की टिप्पणियों से असहमत होने का कोई तात्कालिक कारण समझ में नहीं आ रहा। :)

    ReplyDelete
  12. मामला कंटेंट स्पूफिंग का है , लेकिन जो भी हो, हम-नाम का यूँ ही मिलना रोचक है....

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है. (टिप्पणियों के प्रकाशित होने में कुछ समय लग सकता है.) -संजीव तिवारी, दुर्ग (छ.ग.)

loading...

Popular Posts