ब्लॉग छत्तीसगढ़

15 August, 2010

आज़ादी ... आज़ादी ... आज़ादी

आज़ादी क्या तीन थके रंगों का नाम है?
जिसे एक पहिया ढोता है?
या इसका कोई और मतलब होता है?
सुदामा पांडे 'धूमिल'
स्‍वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनांए

10 comments:

  1. क्या बात है !
    आज़ादी के बहाने बढया प्रस्तुति !

    अंग्रेजों से प्राप्त मुक्ति-पर्व ..मुबारक हो!

    समय हो तो एक नज़र यहाँ भी:

    आज शहीदों ने तुमको अहले वतन ललकारा : अज़ीमउल्लाह ख़ान जिन्होंने पहला झंडा गीत लिखा http://hamzabaan.blogspot.com/2010/08/blog-post_14.html

    ReplyDelete
  2. सांस का हर सुमन है वतन के लिए
    जिन्दगी एक हवन है वतन के लिए
    कह गई फ़ांसियों में फ़ंसी गरदने
    ये हमारा नमन है वतन के लिए

    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  3. ... बहुत सुन्दर !!!
    ... स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं !!!

    ReplyDelete
  4. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आप एवं आपके परिवार का हार्दिक अभिनन्दन एवं शुभकामनाएँ.

    सादर

    समीर लाल

    ReplyDelete
  5. dost aazaadu thke tin shbd nhin aazaadi hmaaraa gurur he hmaraa aatm mman he aazadi hmari bhaaduri aektaa akhndtaa ki antrraashtriy pehchaan he lekin ise hm or hmaare neta peron tle rond kr styaanaas krne men lge hen khudaa is vichaardhaaraa ko bdlvaa kr desh ke rchnaatmk or surkshatmk kaamon men hmen lgaane ki hidaayt de. akhtar khan akela kota rajsthan

    ReplyDelete
  6. वे धूमिल है सो रंग भी थक गये उनके ! खैरियत ये कि उन्होंने अन्य कोई मतलब की गुंजायश भी रख छोड़ी है :)


    अनंत शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  7. हालात चिन्तनीय है, उत्सव मनाने का समय नहीं। स्वतन्त्रता पर इतरा लें और पुनः कार्य पर लग जायें।

    ReplyDelete
  8. स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आपको बहुत बहुत बधाई .कृपया हम उन कारणों को न उभरने दें जो परतंत्रता के लिए ज़िम्मेदार है . जय-हिंद

    ReplyDelete
  9. अच्छा लगा धूमिल को याद करना ।

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है. (टिप्पणियों के प्रकाशित होने में कुछ समय लग सकता है.) -संजीव तिवारी, दुर्ग (छ.ग.)

loading...

Popular Posts