ब्लॉग छत्तीसगढ़

06 October, 2008

डॉ.रत्‍ना वर्मा की पत्रिका उदंती .com अंक 2, सितम्‍बर 2008 नेट में उपलब्‍ध

अंक 2, सितम्‍बर 2008

इस अंक में -

अनकही : ...पीने को एक बूंद भी नहीं


संस्मरण / उफनती कोसी को देख याद आई शिवनाथ नदी की वह बाढ़ - संजीव तिवारी

पर्यावरण/ सिक्के का दूसरा पहलू प्लास्टिक का कोई विकल्प है? - नीरज नैयर


बदलाव / स्वास्थ्य छत्तीसगढ़ के अनूठे कल्याणी क्लब - स्वप्ना मजूमदार

कला / अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता समाज का हिस्सा है कलाकृति - संदीप राशिनकर

समाज / मैती आंदोलन जहां प्रेम का पेड़ लगाते हैं दूल्हा दुल्हन -प्रसून लतांत

रिश्ते / जैसे को तैसा वसीयत में ठेंगा - डॉ. रत्ना वर्मा

सपने में / बस्तर का सच यह केवल स्वप्न नहीं था - राजीव रंजन प्रसाद

आपके पत्र / इन बाक्स

उदंती.com का विमोचन

उत्पादन / फलों का सरताज हिमाचल का काला सोना - अशोक सरीन

कविता : जीवन का मतलब - बालकवि बैरागी

रंग बिरंगी दुनिया


रमन सरकार की कामयाबी पर विशेष पृष्ठ

5 comments:

  1. "thanks for the link given'

    regards

    ReplyDelete
  2. आभार जानकारी के लिए.

    ReplyDelete
  3. रत्ना जी को बधाई और आपका भी आभार जानकारि देने के लिये।

    ReplyDelete
  4. पढना आरंभ किया है!!आभार

    ReplyDelete
  5. डा.रत्ना वर्मा जी को पत्रिका के लिये बधाई/आपको और आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें/

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है. (टिप्पणियों के प्रकाशित होने में कुछ समय लग सकता है.) -संजीव तिवारी, दुर्ग (छ.ग.)

loading...

Popular Posts