ब्लॉग छत्तीसगढ़

24 November, 2007

जब नर तितलियां ले जाए प्रणय उपहार : डॉ. पंकज अवधिया जी की कलम से

पंकज अवधिया जी (दर्द हिन्‍दुस्‍तानी) के लेख विभिन्‍न पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से प्रकाशित होते रहते हैं जिससे पाठक एवं ब्‍लागजगत वाकिफ ही है अभी सांध्‍य दैनिक छत्‍तीसगढ में 22 नवम्‍बर को उपरोक्‍त लेख जब प्रकाशित हुआ था तो हम अपने आप को रोक नहीं पाये और इसे यहां आप लोगों के लिए प्रस्‍तुत कर दिया ।

3 comments:

  1. Mud Puddling - वाह, बड़ी रोचक जानकारी दी संजीव!

    ReplyDelete
  2. वाकई एक रोचक जानकारी!!

    पंकज अवधिया जी के उपयोगी जानकारी से भरे लेख व समाचार स्थानीय अखबारों में खासतौर से नवभारत मे आए दिन छपते रहते हैं, आशा है आमजन इन लेखो-समाचारों से फ़ायदा उठाते होंगे!!

    शुक्रिया पंकज जी को व आरंभ को भी!!

    ReplyDelete
  3. नवीन व रोचक जानकारी।

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है. (टिप्पणियों के प्रकाशित होने में कुछ समय लग सकता है.) -संजीव तिवारी, दुर्ग (छ.ग.)

Popular Posts

24 November, 2007

जब नर तितलियां ले जाए प्रणय उपहार : डॉ. पंकज अवधिया जी की कलम से

पंकज अवधिया जी (दर्द हिन्‍दुस्‍तानी) के लेख विभिन्‍न पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से प्रकाशित होते रहते हैं जिससे पाठक एवं ब्‍लागजगत वाकिफ ही है अभी सांध्‍य दैनिक छत्‍तीसगढ में 22 नवम्‍बर को उपरोक्‍त लेख जब प्रकाशित हुआ था तो हम अपने आप को रोक नहीं पाये और इसे यहां आप लोगों के लिए प्रस्‍तुत कर दिया ।
Disqus Comments