ब्लॉग छत्तीसगढ़

20 July, 2007

पेंटालून बिग बाजार का छत्‍तीसगढ में पदार्पण

फ्यूचर ग्रुप के पेंटालून रिटेल इंडिया लिमिटेड नें रायपुर में हाईपर मार्केट स्‍टोर के अपने सबसे बडे रिटेल चेन बिग बाजार का आज शुभारंभ किया । 51000 वर्ग फिट में फैले सिटी माल 36 में स्थित बिग बाजार रायपुर का पहला सबसे बडा हाईपर मार्केट है ।

वैसे रायपुर में मझोले स्‍तर की कम्‍पनियों के रिटेल बाजार भी विगत कई वर्षों से संचालित थे पर पेंटालून के आने से अब छत्‍तीसगढियों को भी ठेठरी बासी खाकर, अपना पागी पउटका, खुमरी आदि लेने के लिए महानगर के स्‍तर का बाजार प्राप्‍त हो सकेगा ।

5 comments:

  1. ओह्ह आप क्या समझते है क्या ये छत्तिसगढ के लिये अच्छा होगा? नही ये ठीक है यहाँ पर हर सामान एक ही जगह मिल सकेगा…मगर ये सोचिये इनके आने से कितने छोटे-मोटे व्यापारी बेरोजगार हो जायेंगे…और एक जरूरी बात जो हम लोग जानते है आपको इनमे वो चीज कभी नही मिलेगी जो आम मार्केट में मिल सकेगी…जैसे की इनकी स्किम चलती है एक के साथ एक फ़्री…और दूसरी बात इन्हे चीज़ मार्केट से कम दामों मे भी चाहिये और जितना बडा काम उतने खर्चे…अब खर्चे होंगे तो तेल तो इन्ही तिलो में से निकलेगा ना भाई…ना तो ये पेंटालून नुकसान उठायेंगे ना ही रीटेलर्…नुकसान होगा गरीब जनता का या हमारे जैसे होल-सेल विक्रेताओं का…और हम भी क्यों नुकसान उठायेंगे भई आज कम्पीटिशन का जमाना है घोडा घास से यारी करेगा तो खायेगा क्या…
    अब आप ही सोचिये क्या ठीक है छोटी दुकानो से सही माल खरीदना या बासी,बेकार मिलावटी माल बडे-बडे बिग बाजारों से लेना…
    मेरे ख्याल से सब मिल कर इसका विरोध करें तो बहुत से लोग बेरोजगर होने से बच जायेंगे…

    संजीव जी अभी तो इसका शुभ-आरम्भ हुआ है समझिये आस-पास की दुकानो का दुखःआरम्भ शुभ हो गया है…

    ReplyDelete
  2. शानू की बात पर कान दीजिए और बड़े बाजारों के मायाजाल में मत फंसिये. आपकी जानकारी और शानू की शानदार टिप्पड़ी के लिए धन्यवाद.

    ReplyDelete
  3. ह्म्म, कल अखबार मे इसकी शुरुआत के बाद से विचार आए जा रहे है मन में देखते हैं आगे होता क्या है!

    ReplyDelete
  4. चलो, यह अच्छा हुआ. घर बैठे ही प्रमोशन हो गया. महानगरवासी हो गये. वरना तो दिल्ली बम्बई जाये बिना कैसे बन पाते. :) बधाई.

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है. (टिप्पणियों के प्रकाशित होने में कुछ समय लग सकता है.) -संजीव तिवारी, दुर्ग (छ.ग.)

Popular Posts