ब्लॉग छत्तीसगढ़

Popular Posts

28 June, 2007

धुरविरोधी कौन है ? बनाम वो दो चिट्ठे कौन हैं ?

एक तरफ हिन्‍दी चिट्ठाजगत हैरान परेशान है कि ये धुरविरोधी कौन है सब एक दूसरे को पूछ रहे हैं कि ये धुरविरोधी कौन है ? पर किसी को नही मालूम कि ...

27 June, 2007

छत्‍तीसगढ की करूणामयी मां मिनी माता

लगभग 20 वर्ष छत्‍तीसगढ के लब्‍धप्रतिष्ठित समाचार पत्र देशबंधु के फीचर, साहित्‍य पेज व बच्‍चों के पेज के मुख्‍य पद पर काम करते हुए परदेशीराम ...

25 June, 2007

टाटा स्‍काई बनाम बीएसएनएल ब्राड बैंड

अब बहुतै मुश्किल होत जात है ब्‍लाग में ठहरे रहना रोजै तिरिया के गारी खावै ले बचे खातिर कउनो उपाय करें समझे म नही आत है । अरे भाई लोगन हरे हप...

23 June, 2007

छत्तीसगढियों को भी मिले महत्व

नजरिया : परदेशीराम वर्मा छत्तीसगढ में आए दिन कुछ रोचक समाचार छपते रहते हैं अभी पिछले दिनों रेल विभाग के एक सेवानिवृत महाप्रबंधक से संबंधित स...

21 June, 2007

अंतर्राष्‍ट्रीय ख्‍यातिप्राप्‍त पंथी नर्तक देवदास बंजारे

“ छत्‍तीसगढ की लोक कला अत्‍यंत समृद्ध है । वह अपनी मौलिकता और विविधता के लिए प्रसिद्ध है । पंथी नृत्‍य उनमें से एक है । पंथी नृत्‍य के शीर्ष...

20 June, 2007

नउवा : संस्मरण

रमउ हमारे पिताजी से चार पांच साल बडे थे हमारे दादा जी नें इसे पास के गांव से लाकर हमारे गांव में बसाया था दस एकड जमीन और जुन्‍ना बाडा को देक...

18 June, 2007

आशंका : डा. परदेशी राम वर्मा की कहानी

नेवरिया ठेठवार के आने के बाद पंचायत प्रारंभ होती है । गांव में ब्राहमण, तेली, कुर्मी सब जाति के लोग हैं । मगर सबसे ज्‍यादा छानही ठेठवारों की...

17 June, 2007

आदिवासी क्रातिवीर कंगला मांझी

कंगला मांझी छत्‍तीसगढ के आदिवासी नेतृत्‍व के उदीयमान नक्षत्र थे । उनका नाम छत्‍तीसगढ के सम्‍माननीय स्‍वतंत्रता संग्राम सेनानियों के रूप में ...

15 June, 2007

बिना लोगो मोनो का पेपर नेपकिन

अरे साहब जबरदस्‍ती मिले चारज से हलाकान सुबह सुबह उठ के हम भागे अपने होटल की ओर पर पत्‍नी के नाजुक हाथों से बना नास्‍ता कर के पंचू के पान का ...

14 June, 2007

प्रथम मानसून की बूदों में अदभुत रोगनिवारक शक्तियां : पंकज अव‍धिया

पंकज अवधिया जी भारत के जाने माने कृषि वैज्ञानिक हैं, इन्‍होंनें छत्‍तीसगढ के पारंपरिक रोग उपचार पद्धति एवं औषधीय पौंधों के क्षेत्र में उल्‍ल...

11 June, 2007

डा परदेशीराम वर्मा की कहानी “ विसर्जन ”

हिन्दी और छत्तीसगढी में समान रूप से लिखकर पहचान बनाने वाले चुनिंदा साहित्यकारों में से एक कथाकार डा परदेशीराम वर्मा नें कहानी, उपन्यास, संस्...

09 June, 2007

छत्‍तीसगढ को हिन्‍दीभाषी राज्‍य घोषित करने का दुराग्रह क्‍यों ?

राज्‍य सरकार संविधान के अनुच्‍छेद 345 के अंतर्गत छत्‍तीसगढी भाषा को राजभाषा के रूप में शासकीय मान्‍यता प्रदान कर सकती है । फिर भी इसे हिन्‍...

08 June, 2007

दीपाक्षर सम्‍मान समारोह ९ जून को बिलासपुर में

दीपाक्षर साहित्‍य समिति दुर्ग भिलाई के तत्‍वाधान में प्रतिवर्ष आयोजित होने वाला दीपाक्षर सम्‍मान समारोह इस वर्ष बिलासपुर में ९ जून को संपन्‍...

1857 का स्वतंत्रता संग्राम या 1857 का गदर

दो दिन पहले प्रगतिशील वसुधा के सम्पादक प्रगतिशील लेखक संघ के राष्‍ट्रीय महासचिव प्रो. कमला प्रसाद के “१८५७ की क्रांति और आज के प्रश्‍न” विष...

07 June, 2007

छत्तीसगढी के लिए एकजुट आंदोलन का संकल्प

राजभाषा मंच के तत्वाधान में अगासदिया नें छत्तीसगढी और छत्तीसगढीया वैचारिक संगोष्ठी का आयोजन छत्तीसगढ के लौह नगरी भिलाई मे किया । इस गोष्ठी म...

06 June, 2007

परीक्षण . . . निरीक्षण 123

मदनांतक शूलपाणि शिव आप मद रूपी मदन को भस्म करने वाले हो आपके हाथो मे सजा देने के लिये दिव्य शूल है मुझे आपके रूप का एहसास है . . . करचरण ...

02 June, 2007

कोई नया अरेन्जमेंट मार्केट में आयेगा तो बताइयेगा . .

रात में आफिस से आकर कम्प्यूटर में खटर पटर करते देख एक हिन्दी ब्लागर की पत्नी फिर चिल्लाई, “अभी भी नशा नही उतरा है आपका ! रोज सुबह वादा करते ...

01 June, 2007

हमारी हिन्दी का भी कल्याण हो ! रूपर्ट स्नेल

गांधी शांति प्रतिष्ठान के श्री अनुपम मिश्र द्वारा प्रकाशित अहिंसा-संस्कृति की द्वैमासिक प्रकाशन “गांधी मार्ग” में प्रकाशित रूपर्ट स्नेल, (हि...